Namaz Ki Surah Hindi me PDF Download

यहां हम आप सभी के लिए Namaz Ki Surah Hindi me PDF पेश कर रहे हैं। नमाज की सूरह मस्जिद में मुसलमानों द्वारा पढ़ी जाने वाली नमाज का एक बहुत ही आवश्यक हिस्सा है। नमाज की सूरह उर्दू और अंग्रेजी सहित कई भाषाओं में उपलब्ध है लेकिन यहां हम इसे हिंदी भाषा में साझा करने जा रहे हैं क्योंकि बहुत से लोग इसे हिंदी भाषा में खोजते हैं।

इसे आसानी से पढ़ना और स्पष्ट उच्चारण करना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि वे ब्रह्मांड के सर्वशक्तिमान ईश्वर की स्तुति करने के लिए इसका पूरा लाभ उठा सकें। तो अगर आपको उर्दू में नमाज़ की सूरा पढ़ने में परेशानी होती है तो आसानी से सीखने के लिए आप इसे हिंदी में यहाँ पढ़ सकते हैं।

Namaz Ki Surah Hindi me PDF

सुरः अल-फातिहा:

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
अल्हम्दु लिल्लाहि रब्बिल आलमीन
अर्रहमानिर्रहीम
मालिकि यौमिद्दीन
इय्या-क न बुदु व इय्या-क नस्तीइन
इहदिनस्सिरातल्-मुस्तकीम
सिरातल्लज़ी-न अन्अम्-त अलैहिम गैरिल्-मग़जूबि अलैहिम् व लज्जॉल्लीन

✦ तर्जुमा ✦

अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
तारीफ़ अल्लाह ही के लिये है जो तमाम क़ायनात का रब है।
रहमान और रहीम है।
रोज़े जज़ा का मालिक है।
हम तेरी ही इबादत करते हैं, और तुझ ही से मदद मांगते है।
हमें सीधा रास्ता दिखा।
उन लोगों का रास्ता जिन पर तूने इनाम फ़रमाया जो माअतूब नहीं हुए, जो भटके हुए नहीं है।

सुरः अल-कौसर

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
इन्ना आतय ना कल कौसर
फसल्लि लिरब्बिका वन्हर
इन्ना शानिअका हुवल अब्तर

✦ तर्जुमा ✦

अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
(हे नबी!) हमने तुम्हें कौसर प्रदान किया है।
तो तुम अपने पालनहार के लिए नमाज़ पढ़ो तथा बलि दो।
निःसंदेह तुम्हारा शत्रु ही बे नाम निशान है।

सुरः अल-फलक

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
कुल अऊजु बिरब्बिल फलक
मिन शर रिमा ख़लक़
वामिन शर रिग़ासिकिन इज़ा वकब
वमिन शर रिन नफ़फ़ासाति फ़िल उक़द
वमिन शर रि हासिदिन इज़ा हसद

✦ तर्जुमा ✦

अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
(ऐ रसूल) तुम कह दो कि मैं सुबह के मालिक की
हर चीज़ की बुराई से जो उसने पैदा की पनाह माँगता हूँ
और अंधेरीरात की बुराई से जब उसका अंधेरा छा जाए
और गन्डों पर फूँकने वालियों की बुराई से
(जब फूँके) और हसद करने वाले की बुराई से

सुरः अन-नास

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
कुल अऊजु बिरब्बिन नास
मलिकिन नास
इलाहिन नास
मिन शर रिल वसवा सिल खन्नास
अल्लज़ी युवस विसु फी सुदूरिन नास
मिनल जिन्नति वन नास

✦ तर्जुमा ✦

अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
(ऐ रसूल) तुम कह दो मैं लोगों के परवरदिगार
लोगों के बादशाह
लोगों के माबूद की (शैतानी)
वसवसे की बुराई से पनाह माँगता हूँ
जो (ख़ुदा के नाम से) पीछे हट जाता है जो लोगों के दिलों में वसवसे डाला करता है
जिन्नात में से ख्वाह आदमियों में से

सुरः इखलास

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
कुल हुवल लाहू अहद
अल्लाहुस समद
लम यलिद वलम यूलद
वलम यकूल लहू कुफुवन अहद

✦ तर्जुमा ✦

अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
(ऐ रसूल) तुम कह दो कि ख़ुदा एक है
ख़ुदा बरहक़ बेनियाज़ है
न उसने किसी को जना न उसको किसी ने जना
और उसका कोई हमसर नहीं

सुरह क़द्र

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

इन्ना अनज़ल नाहु फ़ी लैलतिल कद्र
वमा अदरा कमा लैलतुल कद्र
लय्लतुल कदरि खैरुम मिन अल्फि शह्र
तनज़ ज़लूल मला इकतु वररूहु फ़ीहा बिइज़्नि रब्बिहिम मिन कुल्लि अम्र
सलामुन हिय हत्ता मत लइल फज्र

✦ तर्जुमा ✦

अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
हम ने कुरान को शबे क़द्र में उतारा है
और आप को मालूम है कि शबे क़द्र क्या है ?
शबे क़द्र हज़ार महीनों से बेहतर है
जिस में फ़रिश्ते रूहुल क़ुदुस (जिबरईल अलैहिस सलाम) अपने रब की इजाज़त से हर हुक्म को लेकर उतरते हैं
ये रात सरापा सलामती है, जो सुबह होने तक रहती है

Leave a Comment