रामदेव चालीसा PDF | Ramdev Chalisa PDF in Hindi

Ramdev Chalisa PDF In Hindi: नमस्कार दोस्तों, आज के लेख में आप बाबा रामदेव चालीसा पढ़ेंगे। रामदेव चालीसा एक भक्तिपूर्ण भजन है जो राम को समर्पित है।

यह चालीस छंदों या चौपाइयों से बना है जो रामदेव के गुणों को प्रशंसा करते हैं और उनके आशीर्वाद की मांग करते हैं। चालीसा, रामदेव के भक्तों के बीच बहुत लोकप्रिय प्रार्थना है, जिसे बड़ी भक्ति और उत्साह से पढ़ा जाता है।

श्री रामदेव चालीसा

॥ दोहा ॥

श्री गुरु पद नमन करि, गिरा गनेश मनाय।

कथूं रामदेव विमल यश, सुने पाप विनशाय॥

द्वार केश से आय कर, लिया मनुज अवतार।

अजमल गेह बधावणा, जग में जय जयकार॥

॥ चौपाई ॥

जय जय रामदेव सुर राया। अजमल पुत्र अनोखी माया॥

विष्णु रूप सुर नर के स्वामी। परम प्रतापी अन्तर्यामी॥

ले अवतार अवनि पर आये। तंवर वंश अवतंश कहाये॥

संत जनों के कारज सारे। दानव दैत्य दुष्ट संहारे॥

परच्या प्रथम पिता को दीन्हा। दूध परीण्डा मांही कीन्हा॥

कुमकुम पद पोली दर्शाये। ज्योंही प्रभु पलने प्रगटाये॥

परचा दूजा जननी पाया। दूध उफणता चरा उठाया॥

परचा तीजा पुरजन पाया। चिथड़ों का घोड़ा ही साया॥

परच्या चौथा भैरव मारा। भक्त जनों का कष्ट निवारा॥

पंचम परच्या रतना पाया। पुंगल जा प्रभु फंद छुड़ाया॥

परच्या छठा विजयसिंह पाया। जला नगर शरणागत आया॥

परच्या सप्तम् सुगना पाया। मुवा पुत्र हंसता भग आया॥

क्लिक करो 👉  Ganesh Chalisa PDF in Hindi

परच्या अष्टम् बौहित पाया। जा परदेश द्रव्य बहु लाया॥

भंवर डूबती नाव उबारी। प्रगत टेर पहुँचे अवतारी॥

नवमां परच्या वीरम पाया। बनियां आ जब हाल सुनाया॥

दसवां परच्या पा बिनजारा। मिश्री बनी नमक सब खारा॥

परच्या ग्यारह किरपा थारी। नमक हुआ मिश्री फिर सारी॥

परच्या द्वादश ठोकर मारी। निकलंग नाड़ी सिरजी प्यारी॥

परच्या तेरहवां पीर परी पधारया। ल्याय कटोरा कारज सारा॥

चौदहवां परच्या जाभो पाया। निजसर जल खारा करवाया॥

परच्या पन्द्रह फिर बतलाया। राम सरोवर प्रभु खुदवाया॥

परच्या सोलह हरबू पाया। दर्श पाय अतिशय हरषाया॥

परच्या सत्रह हर जी पाया। दूध थणा बकरया के आया॥

सुखी नाडी पानी कीन्हों। आत्म ज्ञान हरजी ने दीन्हों॥

परच्या अठारहवां हाकिम पाया। सूते को धरती लुढ़काया॥

परच्या उन्नीसवां दल जी पाया। पुत्र पाय मन में हरषाया॥

परच्या बीसवां पाया सेठाणी। आये प्रभु सुन गदगद वाणी॥

तुरंत सेठ सरजीवण कीन्हा। उक्त उजागर अभय वर दीन्हा॥

परच्या इक्कीसवां चोर जो पाया। हो अन्धा करनी फल पाया॥

परच्या बाईसवां मिर्जो चीहां। सातो तवा बेध प्रभु दीन्हां॥

परच्या तेईसवां बादशाह पाया। फेर भक्त को नहीं सताया॥

परच्या चैबीसवां बख्शी पाया। मुवा पुत्र पल में उठ धाया॥

जब-जब जिसने सुमरण कीन्हां। तब-तब आ तुम दर्शन दीन्हां॥

भक्त टेर सुन आतुर धाते। चढ़ लीले पर जल्दी आते॥

जो जन प्रभु की लीला गावें। मनवांछित कारज फल पावें॥

यह चालीसा सुने सुनावे। ताके कष्ट सकल कट जावे॥

जय जय जय प्रभु लीला धारी। तेरी महिमा अपरम्पारी॥

मैं मूरख क्या गुण तब गाऊँ। कहाँ बुद्धि शारद सी लाऊँ॥

नहीं बुद्धि बल घट लव लेशा। मती अनुसार रची चालीसा॥

दास सभी शरण में तेरी। रखियों प्रभु लज्जा मेरी॥

क्लिक करो 👉  Hanuman Chalisa Kannada PDF Download

॥ इति श्री रामदेव चालीसा समाप्त ॥

Ramdev Chalisa PDF in Hindi

श्री रामदेव चालीसा को बिना इंटरनेट के पढ़ने के लिए निचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करे और Ramdev Chalisa PDF in Hindi को अपने मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं।

हिंदू आध्यात्मिकता के क्षेत्र में, रामदेव चालीसा एक पूजनीय स्थान रखती है। यह भक्ति भजन भगवान रामदेव को समर्पित है, जो एक लोक देवता हैं जो अपनी दिव्य उपचार शक्तियों और परोपकार के लिए व्यापक रूप से पूजे जाते हैं। इस तेजी से भागती दुनिया में, हिंदी पीडीएफ प्रारूप में रामदेव चालीसा की उपलब्धता प्राचीन परंपराओं से जुड़ने के लिए एक समकालीन दृष्टिकोण प्रदान करती है।

रामदेव चालीसा का अनावरण

40 छंदों वाली रामदेव चालीसा, भगवान रामदेव की एक स्तुति है, जिन्हें बाबा रामदेवजी के नाम से भी जाना जाता है। उनके दयालु स्वभाव और चमत्कारी कारनामे ने पीढ़ी दर पीढ़ी लाखों भक्तों को प्रेरित किया है। यह चालीसा उनके दिव्य गुणों का वर्णन करती है और एक रक्षक और उद्धारकर्ता के रूप में उनकी भूमिका पर जोर देती है।

रामदेव चालीसा की आध्यात्मिक शक्ति

रामदेव चालीसा का जाप भक्ति और उपचार की ऊर्जा से गूंजता है। माना जाता है कि बाबा रामदेवजी दुखों को दूर करते हैं और समस्याओं का समाधान प्रदान करते हैं। भौतिक कल्याण, समृद्धि और सद्भाव के लिए उनका आशीर्वाद मांगा जाता है। कहा जाता है कि चालीसा का सच्चे मन से पाठ करने से उनकी कृपा प्राप्त होती है।

हिंदी पीडीएफ रामदेव चालीसा के लाभ

हिंदी पीडीएफ में रामदेव चालीसा की उपलब्धता डिजिटल युग में आध्यात्मिकता लाती है। सबसे पहले, यह चालीसा को व्यापक दर्शकों के लिए सुलभ बनाता है, जिनमें वे लोग भी शामिल हैं जो हिंदी के साथ अधिक सहज हैं। दूसरे, एक पीडीएफ प्रारूप आपको इस पवित्र पाठ को कहीं भी ले जाने की अनुमति देता है, जिससे परमात्मा के साथ लगातार संबंध की सुविधा मिलती है।

क्लिक करो 👉  श्री लक्ष्मी चालीसा | Laxmi Chalisa PDF

आपकी रामदेव चालीसा हिंदी पीडीएफ प्राप्त करना

इस अमूल्य संसाधन को प्राप्त करने के लिए उत्सुक हैं? आप अपनी आध्यात्मिक यात्रा को समृद्ध बनाने से बस कुछ ही कदम दूर हैं। रामदेव चालीसा हिंदी पीडीएफ में न केवल छंद हैं बल्कि एक समझने योग्य अनुवाद भी है, जो यह सुनिश्चित करता है कि आप इसके गहन अर्थ को समझ सकें।

आध्यात्मिकता और डिजिटल युग को जोड़ना

आध्यात्मिकता और प्रौद्योगिकी का सह-अस्तित्व परमात्मा के साथ हमारे संबंध को बढ़ा सकता है। रामदेव चालीसा हिंदी पीडीएफ इस बात का उदाहरण है कि कैसे प्राचीन शिक्षाएं आधुनिक उपकरणों के साथ सहजता से एकीकृत हो सकती हैं, जिससे परंपरा और प्रगति के बीच सामंजस्यपूर्ण संतुलन को बढ़ावा मिलता है।

निष्कर्ष

हिंदी पीडीएफ प्रारूप में रामदेव चालीसा की उपलब्धता भक्ति और उपचार के सार को समाहित करती है। बाबा रामदेवजी की समृद्ध विरासत को डिजिटल प्रारूप की सुविधा के साथ विलय करके, यह पेशकश भक्तों को अपने दैनिक जीवन में सांत्वना और आशीर्वाद प्राप्त करने का अधिकार देती है।

अगर आप इसे प्राप्त करना चाहते हैं तो हमने इस लेख में आपको बताया है कि आप इसे कैसे प्राप्त कर सकते हैं और बाबा रामदेव जी का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं तो देर किस बात कि अभी जाईये और बाबा रामदेव जी कि chalisa pdf प्राप्त करके इसका पाठ कीजिए।

अगर आपको इस लेख में कोई भी परेशानी आये तो कृपया कमेंट करके हमें जरुर सूचित करें।

Leave a Comment