श्री सत्यानारयण जी की आरती | Satyanarayan Aarti PDF in Hindi

हिंदू धर्म में भगवान विष्णु की पूजा का विशेस महत्व है। विशेष रूप से जब आप पूरी श्रद्धा से विष्णु भगवान का पूजन करते हैं, आपको उनकी विशेष कृपा दृष्टि मिलती है। इसलिए विष्णु को अक्सर एकादशी, बृहस्पतिवार और पूर्णिमा तिथि पर पूजा जाता है। सत्यनारायण की कहानी भी लोग इस पूजन के दौरान सुनते और पढ़ते हैं। पुराणों में सत्यनारायण व्रत कथा का अधिक महत्व बताया गया है।

आज के इस लेख में आप Satyanarayan Aarti PDF in Hindi को डाउनलोड कर सकेंगें। श्री सत्यानारयण जी की कथा अक्सर हमारे घरों में होती है और अगर आप खुद से भी भगवान श्री सत्यानारयण जी की आरती करना चाहते हैं तो आपको Satyanarayan Aarti PDF की आवश्यकता पड़ेगी जिससे आप श्री सत्यानारयण जी की आरती का पाठ कर सकें।

श्री सत्यानारयण जी की आरती

जय लक्ष्मी रमणा, जय श्रीलक्ष्मी रमणा ।

सत्यनारायण स्वामी जन- पातक- हरणा ॥ 

रत्नजटित सिंहासन अदभुत छबि राजै ।

नारद करत निराजन घंटा-ध्वनि बाजै ॥

प्रकट भये कलि-कारण, द्विजको दरस दियो ।

बूढ़े ब्राह्मण बनकर कंचन-महल कियो ॥ 

दुर्बल भील कठारो, जिन पर कृपा करी ।

चन्द्रचूड़ एक राजा, जिनकी बिपति हरी ॥ 

वैश्य मनोरथ पायो, श्रद्धा तज दीन्हीँ ।

सो फल फल भोग्यो प्रभुजी फिर अस्तुति कीन्हीं ॥ 

भाव-भक्ति के कारण छिन-छिन रुप धरयो ।

श्रद्धा धारण कीनी, तिनको काज सरयो ॥ 

ग्वाल-बाल सँग राजा वन में भक्ति करी ।

मनवाँछित फल दीन्हों दीनदयालु हरी ॥ 

चढ़त प्रसाद सवायो कदलीफल, मेवा ।

क्लिक करो 👉  শ্রীহনুমান আরতি | Hanuman Ji Ki Aarti in Bengali PDF

धूप – दीप – तुलसी से राजी सत्यदेवा ॥

सत्यनारायण जी की आरती जो कोई नर गावै ।

 तन मन सुख संपत्ति मन वांछित फल पावै ॥

Satyanarayan Aarti PDF in Hindi Download


सत्यनारायण को भगवान विष्णु का ही रूप मानते हैं। शास्त्रों के अनुसार, सत्यनारायण की पूजा का अर्थ है सत्य की नारायण की पूजा करना। सत्यनारायण भगवान को किसी भी शुभ कार्य (जैसे शादी करने से पहले या बाद) करने से पहले पूजा जाती है। स्कंद पुराण में भगवान सत्यनारायण का उल्लेख है। नारद को स्कन्द पुराण में भगवान विष्णु ने इस व्रत का महत्व बताया है।

माना जाता है कि व्रत करने से भगवान विष्णु हर लेता है। घर की शांति और सुख-समृद्धि के लिए भगवान सत्यनारायण की पूजा बहुत फायदेमंद है। यह पूजा विवाह को सफल बनाने के लिए भी उपयोगी है, साथ ही वैवाहिक जीवन को सफल बनाने के लिए भी। विवाह से पहले और बाद में श्रीकृष्ण की पूजा करना बहुत शुभ है।

सत्यनारायण की कथा और पूजा करना भी लंबी आयु और अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। सत्यनारायण भगवान की कहानी सुनने के लिए परिवार के सदस्यों को भी आमंत्रित करें। इससे जीवन सुखमय होता है। कथा का प्रसाद जितने अधिक लोगों को देते हैं, उतना अधिक लाभकारी होता है।

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आप सभी ने Satyanarayan Aarti PDF को अपने मोबाइल फ़ोन में डाउनलोड कर लिया होगा आप इस आरती का पाठ करके भगवान् सत्यनारायण जी का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आप सत्यनारायण जी की आरती पढ़ रहे हैं और साथ ही आप सत्यनारायण व्रत कथा का भी पाठ करना चाहते हैं तो हमने उसकी भी पीडीएफ आपके लिए उपलब्ध कर रखी है आप उसे भी आसानी से डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं।

क्लिक करो 👉  Khatu Shyam Aarti PDF Download

Leave a Comment