Vishnu Puran PDF in Hindi

Vishnu Puran PDF in Hindi- यह पुराण 18 पुराणों में से एक है। यह पुराण अन्य पुराणों के अपेक्षा थोडा छोटा है। इसमें 7000 श्लोक है। इस पुराण की रचना महेश विशिष्ट पुत्र और वेदव्यास के पिता पराशाल ऋषि ने किया है। इस पुराण में भगवान विष्णु और उनकी भक्तों के बारेमे वर्णन किया है जिसमें बहुत की रोचक कथाएं है।

इन पुराणों मे भगवान विष्णु के अवतारों का वर्णन मिलता है जिसमें श्री कृष्ण कथा और राम कथा का अनुसरण हुआ है। इस पुराण के छः आध्याय है प्रथम में श्रृष्टि के उत्पत्ति के स्वरूप, कालके स्वरूप तथा पारहाद के बारे में रोचक कथाएं है। दूसरे अध्याय में सभी लोको का स्वरूप उल्लेखन और प्रथ्वी के 9 खंडों के साथ ही नक्षत्रों के बारे में बताया गया है।

साथ ही विष्णु पुराण में बताया गया है कि जब कलयुग आएगा तो पाप का प्रभाव इतना बढ़ जाएगा जिससे कि पृथ्वी का संतुलन बिगड़ने लगेगा। विष्णु पुराण में बताया गया है कि कलयुग में होने वाले पापों के लिए मनुष्य खुद जिम्मेदार हैं और यदि मनुष्य चाहे तो अपनी थोड़े ही प्रयासों से कलयुग में होने वाले इन पापों को रोक सकता है और पृथ्वी का संतुलन बनाए रखने में अहम भूमिका निभा सकता है

आज के इस लेख में हमने आपको विष्णु पुराण के बारे में जानकारी देना का प्रयत्न किया है । यदि आप विष्णु पुराण की पूरी कथा को पढ़ना चाहते हैं तो हमारे द्वारा दी गई लिंक के जरिए विष्णु पुराण की पीडीएफ को डाउनलोड करके विष्णु पुराण की कथा को पढ़ सकते हैं।

हमें पूरी उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा।

Leave a Comment